लंदन में लॉकडाउन के विरोध में प्रदर्शन कर रहे 150 से ज्यादा गिरफ्तार

लंदन: लंदन में चल रहे कोविड-19 लॉकडाउन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे 150 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को यह विरोध मार्बल आर्क से शुरू हुआ था। इसे सेव आवर राइट्स यूके ग्रुप ने आयोजित किया था।

प्रदर्शनकारियों में से कुछ लोग क्रिसमस के कपड़े पहने थे और हाथ में तख्तियां रखे थे, जिनमें ऑल आई वांट फॉर क्रिसमस इज माय फ्रीडम बैक (क्रिसमस पर मैं अपनी आजादी वापस चाहता हूं), डिच द फेस मास्क (फेस मास्क हटाओ) और स्टॉप कंट्रोलिंग अस (हमें नियंत्रित करना बंद करो) लिखा था।

अधिकांश प्रदर्शनकारी मास्क नहीं लगाए थे और उन्होंने पुलिस द्वारा वहां से जाने के आग्रहों को भी नजरअंदाज कर दिया।

इससे पहले दिन में पुलिस ने ऐसे सार्वजनिक समारोह न करने को लेकर चेतावनी भी दी थी।

विरोध प्रदर्शन के कारण ऑक्सफोर्ड सर्कस, कानेर्बी स्ट्रीट और रीजेंट स्ट्रीट में पुलिस अधिकारी जब लोगों को हथकड़ी लगाने की कोशिश कर रहे थे तो यहां ट्रैफिक रोक दिया गया था।

मेट पुलिस ने एक बयान में कहा, आज का दिन लंदन शहर की मेट पुलिस और ब्रिटिश ट्रांसपोर्ट पुलिस अधिकारियों के लिए चुनौतिपूर्ण रहा।

पूरे दिन अपने पेशेवर कामों को अच्छे से करने के लिए हम उन्हें धन्यवाद देना चाहेंगे।

आज की कार्रवाई उन लोगों के लिए सीधा नतीजा है जो जान-बूझकर कानून तोड़ रहे हैं और कई बार हमारे अधिकारियों से आक्रामकता से पेश आते हैं और सड़क नेटवर्क में रुकावट पैदा करते हैं।

गृह सचिव प्रीति पटेल ने कहा कि हमने कोरोना वायरस को रोकने के लिए अपने पुलिस अधिकारियों को अविश्वसनीय काम करते देखा।

उन्होंने आगे कहा -हम सभी लोगों से अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिए कह रहे हैं क्योंकि ये उपाय हमने लोगों के जीवन को बचाने के लिए लागू किए हैं।

बता दें कि ब्रिटेन में शनिवार को 479 मौतें होने के बाद भी महामारी को रोकने के उपायों का विरोध हो रहा है। यहां अब तक 58,030 मौतें और 16,09,141 मामले दर्ज हो चुके हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button