भारत

महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव के बाद नया मोड़ ले रहा सियासी समीकरण, जानिए हकीकत

लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद महाराष्ट्र की सियासत नया मोड़ लेती हुई दिख रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि खराब नतीजों के बाद एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना और अजित पवार वाली BCP के तमाम विधायक टूट सकते हैं।

Maharashtra Political Equation: लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद महाराष्ट्र की सियासत नया मोड़ लेती हुई दिख रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि खराब नतीजों के बाद एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना और अजित पवार वाली BCP के तमाम विधायक टूट सकते हैं।

इस बीच विधानसभा में कांग्रेस के नेता सदन विजय वडेट्टीवार ने दावा किया है कि एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) की शिवसेना और अजित पवार की NCP के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि ये विधायक घर वापसी करना चाहते हैं।

वडेट्टीवार ने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजे बता रहे हैं कि हवा किस ओर है। इसलिए विधायक भी हवा का रुख भांपते हुए पाला बदलना चाहते हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि चुनाव नतीजों के ट्रेंड बताते हैं कि महाविकास अघाड़ी को राज्य की कुल 150 विधानसभा सीटों पर जीत मिली है। महायुति को 130 सीटों पर ही बढ़त मिल पाई।

बता दें कि महाराष्ट्र में कुल 288 विधानसभा सीटें हैं। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के नतीजों को देखते हुए कांग्रेस, शरद पवार और उद्धव ठाकरे की उम्मीदें परवान चढ़ गई हैं।

अजित पवार गुट के एक विधायक का हवाला देते हुए एक रिपोर्ट में कहा गया है, ‘हम यहां केंद्रीय एजेंसियों से बचने के लिए हैं। BJP अब 2014 और 2019 जैसी पावरफुल नहीं रही। यदि JDU और TDP ने अलग रास्ता चुना तो फिर यह सरकार गिर भी सकती है।’

बता दें कि खुद अजित पवार ने सोमवार को NCP के 25 साल पूरे होने के मौके पर शरद पवार की तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि शरद पवार ने 25 साल पहले इस पार्टी को खड़ा किया था। उनका कहना था कि शरद पवार आज भी NCP के मुखिया हैं और मार्गदर्शक हैं।

x