झारखंड

दुमका में IAS प्रांजल डांढा और CO कपिल देव ठाकुर को बंधक बनाने के मामले में तीन गिरफ्तार

दुमका जिले के शिकारीपाड़ा (Shikaripada ) के पुलिस ने रविवार को भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी प्रांजल डांढा एवं शिकारीपाड़ा CO कपिल देव ठाकुर को बंधक बनाने के मामले में दर्ज प्राथमिक के दो प्राथमिक अभियुक्त एवं एक अप्राथमिकी अभियुक्त (Non-Primary Accused) को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

Dumka Criminals Arrest: दुमका जिले के शिकारीपाड़ा (Shikaripada ) के पुलिस ने रविवार को भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी प्रांजल डांढा एवं शिकारीपाड़ा CO कपिल देव ठाकुर को बंधक बनाने के मामले में दर्ज प्राथमिक के दो प्राथमिक अभियुक्त एवं एक अप्राथमिकी अभियुक्त (Non-Primary Accused) को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

बीजीआर कंपनी की कोयला साईडिंग Coal Siding) के लिए प्रस्तावित सड़क निर्माण के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी प्रांजल डांढा एवं अंचाधिकारी कपिल देव ठाकुर 20 फरवरी को डिंबादहा गांव होते हुए भिलाई टांड गांव पहुंचे तो ग्रामीणों ने उक्त दोनों अधिकारी के वाहनों को रोकते हुए उनके भ्रमण करने का कारण जानना चाहा।

पदाधिकारी के द्वारा उचित कारण नहीं बताए जाने और ग्रामीण पर भड़कने के कारण आक्रोशित ग्रामीणों ने दोनों पदाधिकारी को बंधक बना लिया था।

सूचना मिलने पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विजय कुमार महतो Shikarpada थाना के प्रभारी थाना प्रभारी गणेश पासवान, सहायक अवर निरीक्षक परवेज आलम एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी एजाज आलम के मौके पर पहुंचे। उसके बाद भी ग्रामीण पदाधिकारीयों को छोड़ने को तैयार नहीं हुए।

तब जाकर डिंबादहा, भिलाईटांड एवं लाताकांदर के ग्रामीणों के साथ एक बैठक हुई। जिसमें पदाधिकारी के द्वारा लिखित कागजात देने पर उन्हें छोड़ा गया। मामले में अंचलाधिकारी कपिल देव ठाकुर के बयान पर शिकारीपाड़ा थाने में मामला दर्ज़ किया गया था।

इन तीनों नामजद अभिक्तों में से दो नामजद अभियुक्त में एक लताकांदर गांव (Latakander Village) के अनिल मुर्मू एवं पातपहाड़ी गांव के राम सोरेन को शनिवार की देर शाम गिरफ्तार किया गया।

वहीं पातपहाड़ी के ही अप्राथमिकी अभियुक्त लुखीराम मरांडी को रविवार को गिरफ्तार कर तीनों को न्यायिक हिरातस में जेल भेज दिया गया।

x