रूपा तिर्की मामला : झारखंड हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा जवाब, परिजनों को सुरक्षा मुहैया कराने का RANCHI SSP को निर्देश

रांची: साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी के पिता देवानंद रूपा तिर्की Rupa Tirkey की याचिका पर झारखंड हाई कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई हुई।

रूपा तिर्की मामले की सुनवाई करते हुए झारखंड हाई कोर्ट ने रांची एसएसपी को दिवंगत रूपा के परिजनों को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश दिया है।

झारखंड हाई कोर्ट ने रांची एसएसपी RANCHI SSP को सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि रूपा के परिवार वालों को सुरक्षा प्रदान की जाए।

झारखंड हाई कोर्ट के न्यायाधीश संजय कुमार द्विवेदी की अदालत में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान अदालत ने राज्य सरकार को चार सप्ताह में काउंटर एफिडेविट दायर करने का निर्देश दिया है।

इस मामले की अगली सुनवाई के लिए अदालत ने 29 जुलाई की तिथि निर्धारित की है।

 रूपा तिर्की के पिता की याचिका पर सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की तरफ से अदालत को बताया गया कि रूपा तिर्की प्रकरण की जांच के लिए पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया है।

जिस पर अदालत ने मौखिक रूप से कहा कि सीआरपीसी में इस तरह का कोई प्रोविजन नहीं है।

उल्लेखनीय है कि अधिवक्ता राजीव कुमार ने रूपा तिर्की के मामले में जल्द सुनवाई के लिए अदालत से आग्रह किया था।

जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया था। रूपा तिर्की के पिता देवानंद तिर्की के द्वारा दायर क्रिमिनल रिट पर सुनवाई के लिए गुरुवार की तिथि निर्धारित की थी।

साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की की मृत्यु को संदेहास्पद बताते हुए रूपा के पिता ने झारखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

रूपा के पिता ने हाई कोर्ट में क्रिमिनल रिट दायर कर इस पूरे प्रकरण की सीबीआई से जांच की मांग की है, और रूपा तिर्की की मृत्यु के लिए पंकज मिश्रा को जिम्मेदार ठहराया है।

साथ ही इस मामले में पंकज मिश्रा की भूमिका की भी जांच की मांग सीबीआई से कराने के लिए झारखंड हाई कोर्ट में गुहार लगाई है।

 साथ ही तीर्थनाथ आकाश और अनुरंजन अशोक ने भी झारखंड हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल कर रूपा तिर्की के मौत को संदेहास्पद बताते हुए इस पूरे प्रकरण की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है।

अपनी याचिका में उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा की संलिप्तता की बात कहते हुए उनकी संपत्ति की जांच की मांग ईडी और इनकम टैक्स से कराने के लिए हाई कोर्ट में पीआईएल दाखिल किया है।

 उल्लेखनीय है कि बीते तीन मई को साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की का शव पुलिस लाइन स्थित सरकारी क्वार्टर में फंदे से लटका हुआ बरामद किया गया था।

मामले में पुलिस ने रूपा तिर्की के प्रेमी उसके बेच मेट सब इंस्पेक्टर शिव कुमार कनौजिया को गिरफ्तार किया था।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button