फिक्की के साथ मिलकर राज्य सरकार करेगी काम: हेमंत सोरेन

रांची: पोस्ट कोविड में सतत आर्थिक विकास और हालात को मजबूत करने की दिशा में राज्य सरकार फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) को नेशनल इंडस्ट्री पार्टनर” बनाएगी।

इसके लिए उद्योग विभाग एवं फिक्की के बीच जल्द ही एमओयू होगा। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रविवार को एमओयू प्रारूप को अनुमोदित कर दिया है।

एमओयू के उपरांत दो साल की अवधि तक फिक्की झारखंड सरकार के नेशनल इंडस्ट्री पार्टनर के रूप में कार्य कर सकेगी।

एमओयू का यह है मकसद

इस एमओयू का मकसद पोस्ट कोविड में फिक्की के साथ मिलकर सतत आर्थिक विकास और हालात को मजबूत करते हुए पहले जैसी स्थिति में वापस लाना है ।

इसके तहत झारखंड के प्राकृतिक संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल, यहां के कुशल और अर्ध कुशल श्रमिकों को उनकी क्षमता और कार्यकुशलता के हिसाब से रोजगार उपलब्ध कराना, निवेश और व्यापार को बढ़ावा देने के अलावा इज ऑफ डूइंग बिज़नेस को प्रमोट करना है, ताकि व्यापार से संबंधित नियम कायदों को सरल बनाया जा सके ।

इससे व्यवसायियों को कारोबार हेतु अनुकूल माहौल मिलेगा ।

झारखंड की प्रायोरिटी सेक्टर को बढ़ावा देना है

झारखंड राज्य में कुछ ऐसे सेक्टर है, जिसमें काफी संभावनाएं हैं। इन स्पेक्टरों को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार और फिक्की मिलकर काम करेगी।

इसमें टैक्सटाइल एंड गारमेंट्स, फूड प्रोसेसिंग, फार्मास्यूटिकल, हेल्थ केयर, मैन्युफैक्चरिंग, एमएसएमई और कुटीर उद्योग, पर्यटन और इको पर्यटन शामिल है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button