झारखंड : शादीशुदा BDO पर ऑफिस की लड़की से इश्क लड़ाने का आरोप, हो गयी धुनाई

पिछले डेढ़ वर्षों से उनके बीच प्रेम प्रसंग चल रहा है

चतरा : जिले के कुंदा प्रखंड के बीडीओ श्रवण कुमार राम को कथित रूप से इश्क लड़ाना भारी पड़ गया। आरोप है कि गुरुवार की सुबह बीडीओ साहब इश्क फरमाने के लिए एक घर में पहुंच गये और जबरदस्ती युवती का हाथ पकड़कर उसे पत्नी बताने लगे।

इसके बाद वह जबरन उसे घर से बाहर निकालने भी लगे। इस पर युवती के परिजनों ने गुस्से में बीडीओ साहब की जमकर धुनाई कर दी।

लड़की के परिजनों ने बीडीओ को घर के बाहर लाकर पूरे गांव के सामने उन पर लात और घूंसे बरसाये।

मामला बढ़ते देख आसपास के ग्रामीणों ने थाना को इसकी सूचना दी।

थाना प्रभारी ने तुरंत मौके पर पहुंचकर बीडीओ को बचाकर वहां से निकाला और उन्हें आवास तक पहुंचाया।

बताया जा रहा है कि बीडीओ श्रवण कुमार राम प्रखंड कार्यालय के नजदीक रहनेवाली एक लड़की को दिल दे बैठे हैं।

पिछले डेढ़ वर्षों से उनके बीच प्रेम प्रसंग चल रहा है। हालांकि, बीडीओ विवाहित हैं।

युवती का कहना है कि पहली पत्नी के रहते वह उनके साथ शादी नहीं कर सकती है।

लड़की ने थाने में पहुंचकर लगाई न्याय की गुहार 

पीड़ित लड़की ने बीडीओ के खिलाफ थाने में पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई है।

मामले को लेकर सिमरिया एसडीपीओ अशोक प्रियदर्शी ने कहा कि लड़की व आरोपी बीडीओ के द्वारा एक-दूसरे के विरुद्ध आवेदन दिया गया है। आवेदन पर मामले की हर पहलू की गहनता से जांच की जा रही है।

जांच के बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। युवती ने जहां BDO पर शादी का प्रलोभन देकर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है,

वहीं बीडीओ ने लड़की और उसके परिजनों पर ब्लैकमेलिंग और जातिसूचक शब्दों का इस्‍तेमाल करते हुए मारपीट का आरोप लगाया है।आरोप है कि बीडीओ की निगाह शुरू से ही उस लड़की के प्रति गलत थी।

बाहर की रहने वाली लड़की का बीडीओ ने न सिर्फ कुन्दा प्रखंड कार्यालय के बगल में घर बनवा दिया बल्कि कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत लड़की को आधार सीडिंग का कार्य भी दे दिया।

इसी मेहरबानी की कीमत बीडीओ साहब ने कुछ अलग ही तरीके से वसूलने का प्रयास किया।

बताते चलें कि पूर्व में भी कुंदा बीडीओ के साथ एक बार मारपीट की घटना घट चुकी है।

BDO ने खुद पर लग रहे आरोपों को बताया निराधार

हालांकि BDO ने पूरे मामले में खुद पर लग रहे आरोपों को निराधार बताया है।

उनका कहना है कि लड़की के जीजा ने सुनियोजित तरीके से पैसे ऐंठने और उन्हें बदनाम करने के नीयत से साजिश रचकर घटना को अंजाम दिया।

लड़की काम नहीं कर रही थी जिसके कारण उसे हटा दिया गया है। इसी के प्रतिशोध में घटना को अंजाम दिया गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button