झारखंड

फ्लाईओवर निर्माण कार्य में पिलर नंबर 56 से गिरकर घायल हो गया मजदूर, 24 घंटे से…

भारतमाला प्रोजेक्ट (Bharatmala Project) के तहत खजूरी से विंढमगंज NH-75 फोरलेन सड़क निर्माण कार्य के तहत गढवा के मेराल थाना मुख्यालय में Flyover निर्माण कार्य में पिलर नंबर 56 से गिरकर एक मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गया, जो पिछले 24 घंटे से जीवन और मौत से जूझ रहा है।

Palamu Flyover Construction : भारतमाला प्रोजेक्ट (Bharatmala Project) के तहत खजूरी से विंढमगंज NH-75 फोरलेन सड़क निर्माण कार्य के तहत गढवा के मेराल थाना मुख्यालय में Flyover निर्माण कार्य में पिलर नंबर 56 से गिरकर एक मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गया, जो पिछले 24 घंटे से जीवन और मौत से जूझ रहा है।

जानकारी के अनुसार घायल मजदूर मेराल थाना क्षेत्र के तेनार गांव निवासी सरजू प्रजापति का पुत्र उपेंद्र प्रजापति है। मंगलवार को पिलर नंबर 56 पर सेटरिंग लगाने का काम कर रहा था, इसी दौरान वह 20 फीट ऊपर पिलर से नीचे जमीन पर गिर गया।

गंभीर रूप से घायल उपेंद्र को आनन फानन में मजदूरों द्वारा Garhwa Sadar Hospital में भर्ती किया गया है, जहां गंभीर स्थिति को देखते हुए चिकित्सक उसे रेफर कर दिए।

जिसे डालटनगंज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, खबर लिखे जाने तक उपेंद्र कोमा में ही था एवं बिना सेफ्टी पिलर निर्माण में लगा हुआ था।

कारगर सेफ्टी किट नहीं रहने की वजह से हुआ हादसा : मजदूर

घटना के बाद फ्लाई ओवर निर्माण कार्य में लगे दर्जनों मजदूरों ने काम को बंद कर दिया। दूसरे दिन बुधवार को सभी मजदूरों ने एक साथ मिलकर काम करा रहे एमजी CPL कंस्ट्रक्शन कंपनी से कारगर सेफ्टी किट उपलब्ध कराने की मांग की।

परंतु कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि किट आने में चार-पांच दिन का समय लगेगा, तब तक पुराने किट पर ही काम कीजिए। इससे गुस्साए मजदूरों ने कहा कि बिना Safety Kit के काम नहीं होगा।

बाद में लोकल मजदूरों के जाने के बाद बाहर के पेटी कॉन्टैक्टर को दबाव देकर बाहरी मजदूरों से काम शुरू कर दिया गया। मजदूरों का कहना है कि कंपनी द्वारा बिना सेफ्टी के ही कार्य कराया जा रहा है जिसकी वजह से पूर्व में भी एक मजदूर की जान पिलर से सेटरिंग खोलने के दौरान हो गई थी।

सरकारी अधिकारी के उदासीनता से निर्माण कंपनी कर रही मनमानी: मजदूर

निर्माण कार्य में लगे मजदूरों तथा स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकारी अधिकारियों के उदासीनता से निर्माण कंपनी मनमानी कार्य करा रहा है।

लोगों ने कहा कि निर्माण कार्य के दौरान ना ही सड़क सेफ्टी का ख्याल रखा जाता है ना ही मजदूरों को कारगर सेफ्टी किट तथा पर्याप्त Supervisor दिया जाता है।

x