ASI हत्याकांड के आरोपी जवान को पुलिस ने किया अरेस्ट, 10 घंटे की कड़ी मशक्कत…

News Aroma Desk

Police Arrested the Soldier accused of ASI Murder Case: गुरुवार को सुबह 8 बजे 10 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ASI हत्याकांड के आरोपी सिपाही अनंत सिंह मुंडा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

साथ ही ASI के शव को भी बरामद कर लिया गया। पुलिस ने ASI के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है।

बताया जाता है कि बुधवार की रात को वारदात को अंजाम देने के बाद के बाद जवान ने खुद को रूम में बंद कर लिया था। लोहरदगा एसपी हरिश बिन जमा और पुलिस की टीम ने 10 घंटे के कड़ी मशक्कत के बाद सिपाही पर काबू पाया और उसे गिरफ्तार किया।

हथियार देने के लिए साथी पुलिसकर्मी ने दबाव बनाया तो गुस्से में मार दी गोली

बता दें कि लोकसभा चुनाव खत्म कराने के बाद वापस लौटे सिपाही अनंत मुंडा ने ASI Dharmendra Singh को गोली मार दी थी। यह घटना बुधवार की देर रात जिले के सदर थाना क्षेत्र स्थित एसपी आवास के पीछे में घटी थी। गोली लगने से ASI Dharmendra Singh की मौके पर ही मौत हो गई थी।

घटना की रात अनंत मुंडा ने अपनी पत्नी और बच्चों को घर में बंद कर दिया था। उसकी सर्विस राइफल उसके साथ थी। जब उसके साथी पुलिसकर्मियों ने उसे राइफल वापस लेने की कोशिश की तो उसने मना किया।

इसके बाद जब उसे हथियार देने के लिए थोड़ा दबाव दिया गया तो उसने गुस्से में आकर धर्मेंद्र सिंह को गोली मार दी। कमरे में जैसे ही फायरिंग हुई, वहां से बाकी पुलिसकर्मी बाहर निकल गए।

घटना को अंजाम देने वाला पुलिसकर्मी घर के अंदर खुद को बंद कर लिया था और रह-रह कर फायरिंग कर रहा था। इस पूरे मामले की जानकारी मिलते ही भारी संख्या में पुलिस पर मौके पर पहुंच।

SP और CRPF कमांडेंट गोलीबारी करने वाले पुलिसकर्मी से बात करने की कोशिश कर रहे थे। काफी मशक्कत के बाद उसने कमरे का दरवाजा खोला और घंटे मशक्कत के बाद उसे गिरफ्तार किया गया।

बुधवार की देर रात लगभग 9 बजे लोहरदगा एसपी के सरकारी आवास के नजदीक किराए के घर में रह रहे पुलिस जवान अनंत सिंह मुंडा ने ASI धर्मेंद्र सिंह की गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था। साथ ही अपनी इंसास राइफल से कई फायरिंग भी की। पुलिस ने उसे नियंत्रण करने का काफी प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली।

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एसपी हारिश बिन जमां ने बुलेट प्रूफ जैकेट पहना और हेलमेट पहनकर घर में घुस गए। उनके साथ CRPF के एक्सपर्ट जवान भी अंदर गए।

समाचार लिखे जाने तक आरोपी जवान को नियंत्रण में लेने का प्रयास किया जा रहा था। मृत ASI धर्मेंद्र सिंह बिहार के बाढ़ निवासी थे। लोहरदगा में उनकी पोस्टिंग पुलिस कंट्रोल रूम में थी।

दो-तीन दिनों से था तनाव में

अनंत सिंह मुंडा रांची के बुंडू प्रखंड का रहने वाला है। वह लोहरदगा नगर पर्षद के पूर्व डिप्टी चेयरमैन बलराम साहू के मकान में पत्नी और बच्चे के साथ किराए में रहता है। दो-तीन दिन से वह तनाव में चल रहा था।

बुधवार रात उसने अपनी पत्नी और बच्चे को घर के एक कमरे में बंद कर दिया। साथ ही अपनी सर्विस इंसास राइफल से फायरिंग की। पत्नी ने फोन से इसकी जानकारी SP कोठी Control Room में तैनात जवान जीतू को दी।

इसके बाद एएसआई धर्मेंद्र सिंह जवानों के साथ अनंत सिंह के पास पहुंचे और उसे समझा-बुझाकर उससे इंसास राइफल लेने की कोशिश की, लेकिन इसी दौरान अनंत ने धर्मेंद्र सिंह पर फायरिंग कर दी। सीने में गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

इसी बीच अनंत की पत्नी और ASI के साथ गए जवान भागते हुए घर से निकले और SP को मामले की सूचना दी। इसके बाद अनंत को नियंत्रण में लेने के लिए SP हारिश बिन जमां ने ऑपरेशन चलाने का निर्णय लिया और अपने नेतृत्व में अनंत के घर में घुस गए। अंततः जवान को नियंत्रण में करने में सफलता मिली और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

हमें Follow करें!

x