प्रधानमंत्री ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री योगी, उपमुख्यमंत्री केशव समेत अन्य नेता मौजूद

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर का शिलान्यास कर उत्तर प्रदेश के साथ ही देश को बड़ी सौगात दी है। यह एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। वहीं दुनिया में यह चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा।

नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के प्रथम चरण के विकास के लिए 1,334 हेक्टयर (लगभग 3,300 एकड़) भूमि का अधिग्रहण किया गया है। इसके निर्माण के लिए ग्लोबल बिडिंग के माध्यम से एवीएशन सेक्टर की कम्पनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इण्टरनेशनल एजी का चयन किया गया है।

आपको बता दें कि नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का विकास दो स्टेज में किया जाएगा। प्रथम स्टेज में यह एयरपोर्ट दो रन-वे का होगा। दूसरे स्टेज में बढ़ कर पाँच रन-वे का हो जाएगा।

दो रन-वे का यह एयरपोर्ट 70 मिलियन यानी सात करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का होगा। इस पर लगभग 30 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे।

यात्रियों की क्षमता की दृष्टि से नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का विकास चार चरणों में होगा। प्रथम चरण में वर्ष 2023-24 में 12 मिलियन यानी एक करोड़ 20 लाख यात्रियों की वार्षिक क्षमता का यह एयरपोर्ट प्रारम्भ में एक रन-वे का होगा।

वर्ष 2031 में बढ़कर 30 मिलियन यानी तीन करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का और दो रन-वे का हो जाएगा। वर्ष 2036 में यह 50 मिलियन और वर्ष 2040 में यह 70 मिलियन यानी सात करोड़ यात्रियों की वार्षिक क्षमता का हो जाएगा।

नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का प्रथम चरण वर्ष 2023-24 में जनता को समर्पित होगा और यहां से पहली उड़ान प्रारम्भ होगी।

नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के निकट यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में अनेक महत्वपूर्ण परियोजनाएं विकसित की जा रही हैं।

इनमें फिल्म सिटी, मेडिकल डिवाइस पार्क, इलेक्ट्रानिक सिटी, एपैरल पार्क आदि शामिल हैं। उत्तर प्रदेश डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर का अलीगढ़ नोड भी इस क्षेत्र के निकट है।

दादरी में मल्टी-मोडल लॉजिस्टिक्स हब तथा बोडाकी में मल्टी-मोडल ट्रांसपोर्ट हब विकसित किए जा रहे हैं। आने वाले दिनों में यह सम्पूर्ण क्षेत्र औद्योगिक और सर्विस सेक्टर की गतिविधियों का सबसे बड़ा केन्द्र बनेगा।

गौरतलब है कि जेवर में 6200 हेक्टेयर में बनने वाला इंटरनेशनल एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। इस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा के पहले चरण में 1334 हेक्टेयर में दो रनवे बनेंगे।

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी, प्रदेश के परिवहन मंत्री अशोक कटारिया, नोएडा सांसद डॉ. महेश शर्मा समेत अन्य नेता मौजूद रहे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button