ममता बोलीं, दिल्ली को नहीं करने देंगे बंगाल पर कब्जा

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को रायगंज स्टेडियम में भारतीय जनता पार्टी पर तीखा प्रहार किया है।

यहां एक बड़ी जनसभा से मुखातिब ममता ने कहा कि वह दिल्ली को बंगाल पर कब्जा नहीं करने देंगी।

तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उत्तर दिनाजपुर के रायगंज स्टेडियम में लोगों से कहा कि एक जमाना था, जब एक बीड़ी तीन लोग पीते थे। अभी कितना पैसा हो गया।

ममता ने कहा, ‘हम कहते हैं – हरे कृष्ण हरे हरे, तृणमूल घरे-घरे और वे लोग (भाजपा) कहते हैं- हरे कृष्ण हरे हरे, टाका चोरी करे करे।

’ ममता ने कहा कि पैसे मिले, तो रख लीजिए। भाजपा को वोट मत दीजिएगा। दिल्ली को बंगाल पर कब्जा नहीं करने देंगे, हम रोकेंगे‘।

लेफ्ट, कांग्रेस पर बोला हमला-

ममता ने कहा कि कांग्रेस-सीपीएम और भारतीय जनता पार्टी आज एक हो गयी है। उन्होंने इन्हें जगाई-माधाई और विदाई नाम दिया है।

साथ ही कहा है कि तीनों को बंगाल से विदा करना होगा। अपने शासनकाल के दौरान बंगाल में बेरोजगारी घटने का दावा करते हुए उन्होंने कहा, “एक ओर देश में 40 फीसदी बेकारी बढ़ी तो दूसरी तरफ बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार ने 40 फीसदी तक गरीबी कम की।

विकास की बात हो या स्मॉल स्केल इंडस्ट्री, कृषि या 100 दिन काम देने का मामला, हर मामले में बंगाल नंबर वन है”।

ममता ने कहा कि अल्पसंख्यकों को सिर्फ तृणमूल कांग्रेस की सरकार ही सुरक्षा दे सकती है।

उम्मीदवार कौन होगा, इसके बारे में सोचने की जरूरत नहीं है। उसके बारे में जानने की जरूरत नहीं है। जो लोग पार्टी छोड़ सकते हैं, उन्हें टिकट नहीं दूंगी।

राजवंशी भाषा के लिए 200 और ओलचिकि के लिए 500 स्कूल-

ममता ने बताया कि राजवंशी भाषा के लिए 200 और ओलचिकि भाषा के लिए 500 स्कूल खोल रही हूं और कालियागंज के अस्पताल में 300 बेड कर दिया है।

रायगंज में मेडिकल कॉलेज की स्थापना की पूरी व्यवस्था हो गयी है। ‌उन्होंने कहा कि हिंदी, गोर्खा भाषा के लिए भी अलग से स्कूल दिये हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा 15 लाख रुपये देंगे, कहकर भाग जाती है। हम जो कहते हैं, वही करते हैं। मिर्ची खाने पर तीखा तो लगेगा ही।

वे लोग दंगा करेंगे और हम कुछ नहीं बोलेंगे, ऐसा कैसे हो सकता है? कहा कि तृणमूल कांग्रेस की सरकार ने स्वास्थ्य साथी से लेकर मुफ्त राशन तक सब कुछ दिया है।

केंद्र ने कुछ नहीं दिया। भाजपा सिर्फ आश्वासन देती है, काम नहीं करती। बिरसा मुंडा के नाम पर किसी और की प्रतिमा को माला पहनाती है।

पार्टी छोड़ने वालों पर बरसीं-

मुख्यमंत्री ममता ने तृणमूल कांग्रेस छोड़कर जाने वालों को खूब खरी-खोटी सुनायी। कहा कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सिर ऊंचा करके चलना होगा।

लोगों की सेवा करनी होगी। यदि कोई सोचता है कि वह बहुत बड़ा नेता हो गया है तो वह मुगालते में है।

तृणमूल कांग्रेस में किसी की चरणवंदना करके कोई टिकट हासिल नहीं कर सकता। उन्हाेंने पार्टी छोड़ने वालों को आड़े हाथ लिया, कहा कि वे लोग बहुत कुछ समेट कर भाग गए हैं।

Back to top button