बंद हो सकता है Vi का नेटवर्क, देश के 26 करोड़ यूजर्स होंगे प्रभावित

anu@newsaroma.com

नई दिल्ली : देशभर में Vodafone-idea यानी Vi का नेटवर्क आने वाले कुछ दिनों में बंद हो सकता है।

इसकी वजह से देश के कुल 26 करोड़ यूजर्स प्रभावित हो सकते हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, देश की इस तीसरी सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी पर हजारों करोड़ रुपये का कर्ज है।

रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी को अपनी 5G रोल आउट करने के लिए बैंक से कर्ज लेना होगा।

हालांकि पिछले महीने खत्म हुए 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में कंपनी ने कुल 6,228 MHz (1800 MHz, 2100 MHz, 2500 MHz, 3300 MHz और 26 GHz) 5G स्पेक्ट्रम खरीदे हैं। गौरतलब है कि कंपनी ने 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में 17 प्रॉयरिटी टेलीकॉम सर्किल के लिए बोली लगाई है।

कंपनी को जल्द से जल्द वापस करने हैं 7,000 करोड़ रुपये का बकाया

रिपोर्ट के मुताबिक, Vi पर इस समय कुल 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया है, जिनमें से 7,000 करोड़ रुपये का बकाया कंपनी को जल्द से जल्द वापस करने हैं।

दरअसल, वोडाफोन-आइडिया को टावर कनेक्टिविटी प्रदान करने वाली कंपनी इंडस टावर ने टेलीकॉम कंपनी से जल्द से जल्द 7,000 करोड़ रुपये देने के लिए कहा है।

इंडस टावर ने कहा है कि टेलीकॉम कंपनी अगर नवंबर तक इस रकम का भुगतान नहीं करती है, तो उसके टावर को यूज नहीं कर पाएगी।

Reliance Jio और Airtel को होगा फायदा

Vodafone-idea के नेटवर्क बंद होने की वजह से कंपनी के 26 करोड़ यूजर्स प्रभावित हो सकते हैं। इसका फायदा Reliance Jio और Airtel को होगा।

पिछले दिनों TRAI और DoT द्वार जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, Vodaphone -Idea के पास अप्रैल 2022 तक 259.21 मिलियन ( तक़रीब 26 करोड़) यूजर्स थे, हालांकि इस दौरान कंपनी का सब्सक्राइबर बेस 1.6 मिलियन (16 लाख) कम हुआ है।

1 अक्टूबर को 5G सर्विस लॉन्च किया जा सकता है

देश में 1 अक्टूबर को 5G सर्विस लॉन्च किया जा सकता है। अगले महीने शुरू होने वाले IMC 2022 में PM Modi नेक्स्ट जेनरेशन Telecom सर्विस को लॉन्च कर सकते हैं। Jio दिवाली से देश के चार महानगरों में 5G सर्विस शुरू करने वाली है, वहीं कंपनी अगले साल दिसंबर तक देश के अन्य भागों में यह सर्विस रोल आउट कर देगी।

5G इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने के लिए करीब 2 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं

कंपनी ने 5G इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने के लिए करीब 2 लाख करोड़ रुपये खर्च किए हैं। Airtel ने भी 5G नेटवर्क के इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए करोड़ों रुपये खर्च किए हैं।

कंपनी भी अगले महीने अपनी 5G सर्विस को देश के बड़े शहरों में शुरू करेगी। Airtel का लक्ष्य मार्च 2024 तक पूरे भारत में 5G सर्विस रोल आउट करने का है। बहरहाल, आने वाले समय में यह देखना होगा महत्वपूर्ण होगा कि Vi अपने ऊपर आए वित्तीय संकट से किस तरह उबरती है।

हमें Follow करें!

x